जुर्म

SC: पीएमएलए की अनुसूची में शामिल जानिए कुछ खास

पीएमएलए की अनुसूची में शामिल होने पर की 120वीं के तहत आपराधिक साजिश का मामला बनेगा सुप्रीम कोर्ट का फैसला

SC-पीएमएलए की अनुसूची मेंशामिल होने पर ही 120 सी के तहत आपराधिक साजिश का मामला बनेगा सुप्रीम कोर्ट का फैसला कोर्ट ने कहाधारा 120वीं के तहत दंडनीय अपराध केवल तभी एक अनुसूची अपराध बनेगा जब कथित साजिश भी आने वाले अनुसूची में विशेष रूप से शामिल अपराध करने की हो उसे आधार पर हम iD की कार्यवाही को रद्द करते हैं

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि भारतीय दंड संहिता की धारा 120वीं के तहत दंडनीयआपराधिक साजिश के अपराध को धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत सिर्फ तभी एक अनुसूची अपराध माना जाएगा जब कथा साजिश पीएमएलए की अनुसूची में अपराध रूप में शामिल हो

जस्टिस सागर फेसबुक का और जस्टिस पंकज मित्तल की पीठ में प्रवर्तन निदेशालय की ओर से पेश हुआ एडिशनल 40 सीटर जनरल एसी राजू के उसे तरफ को खारिज कर दिया गया कि पीएमएलए अधिनियम की धारा 2 के तहतधारा 120 ही अनुचित अपराध से संबंधित है और इसके तहत आईडी अधिकारियों के पास अपराध की जांच करने की शक्ति है

यार मोती अभय स्पा का और न्याय मूर्ति पंकज मित्तल की पीठ में कर्नाटक उच्च न्यायालय के एक फैसले के खिलाफ दायक अपील पर यह फैसला सुनाया जिसे पीएमएलए के तहत अच्छी कार्यकर्ता के खिलाफ धन शोधन के अपराध के लिए बेंगलुरु में विशेष न्यायाधीश के सामने लंबित मामले में कार्यवाही रद्द करने से इनकार कर दिया था फिर उसने कहा यह अच्छी कार्यकर्ता के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 143 ,406 ,407 ,408 ,409, 150 के तहत प्राथमिक दर्ज की गई थी

Editor

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़ें

Back to top button
E7Live TV

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker