रिलेशनशिप

Majedar chutkule: एक से बढ़कर एक मजेदार चुटकुले जो हंसा -हंसा कर पेट में दर्द कर देंगे

बहुत ही मजेदार और शानदार फनी चुटकुले हैं

हमारे मस्तिष्क में वर्तमान समय में हम इतना लोड ले लेते हैं। जिसके कारण तनाव की स्थिति उत्पन्न हो जाती है, और हमें कई सारी मानसिक तनाव से संबंधित बीमारियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए डॉक्टर भी सलाह देते हैं कि आपको जितना हो।सके ज्यादा पसंद रहने की कोशिश करें तो आपको खुश रहें प्रसन्न रहें इससे आपको तनाव नहीं होगा और आप स्वस्थ रहेंगे।

यह चुटकुले आपको तो तनाव मुक्त रखने में मदद करते हैं। और आपक़ो मस्तिष्क से तनाव से संबंधित बीमारियों से दूर रखते हैं।

Fancy Chudiyan: सुंदर और आकर्षक लुक क्रिएट करती हैं, यह शानदार और फैशनेबल चूड़ियों के डिजाइन

😂😂😂😂😂

एक पुराना दांत सबसे अच्छा दोस्त से कहता है, “यार, मुझे बहुत दर्द हो रहा है।”

दोस्त ने पुराने दांत से पूछा, “क्या तू डॉक्टर के पास गया है?”

पुराना दांत हँसते हुए बोला, “हाँ, उसने कहा है कि मुझे निकालना पड़ेगा!”

😂😂😂😂😂😂

एक आदमी एक रेस्टोरेंट में वेटर से पूछता है, “यहां एक्सप्रेस कितने वक्त लगता है?”

वेटर ने कहा, “आपकी उम्र के आधार पर सर, इंडिया एक्सप्रेस बहुत ज्यादा लगती है!”

😂😂😂😂😂

एक बच्चा अपनी मां से पूछता है, “माँ, आप मेरे जीवन के बारे में क्या सोचती हो?”

मां ने हँसते हुए कहा, “मैं तुम्हारे जीवन के बारे में सोचती हूँ कि तुम मुझे और कब उल्लू बनाओगे!”

😂😂😂😂😂

एक पेड़ और एक बादल चुपके से बात कर रहे होते हैं।

पेड़: “तुम मुझे जल देते हो और मैं तुम्हें ऑक्सीजन देता हूँ। हम सच में बहुत अजीब हैं!”

बादल: “हाँ, यह तो हमेशा से बोलते हैं – पेड़ हमारे दोस्त हैं, वे हमें जीने की वजह देते हैं!”

😂😂😂😂😂

एक पत्नी अपने पति से कहती है, “तुम्हारा मोबाइल फोन मेरे सोने की रिंगटोन जैसा होना चाहिए।” पति बोलता है, “ठीक है, तब से आपको हर बार जब भी कोई कॉल आएगा, मुझे चीखने का मन हो जाएगा!”

😂😂😂😂

साहित्यप्रेमी दूल्हा सुहागरात को अपनी दुल्हन से बोला –

प्रिये, आज से आप ही मेरी

शांति हो,

भावना हो,

कविता हो,

कामना हो।

 

दुल्हन ने यह सुनकर दूल्हे से कहा –

मेरे लिए भी आज से आप ही मेरे

गोविन्द हो,

सलमान हो,

शाहरुख़ हो,

सुरेश हो,

राकेश

पति इतने सारे नाम सुनकर बेहोस।

😂😂😂😂😂😂

एक शराबी आधी रात को पुलिस स्टेशन पहुंचा।

उसे देखकर ड्यूटी पर मौजूद इंस्पेक्टर कड़क कर बोला के –

इतनी शराब पीकर तुम्हें यहां पोलिश थाने आते हुवे डर नहीं लगा?

 

शराबी बहकते हुए बोला –

अच्छा मुझे पता नहीं था कि यहां भी मेरी बीवी का कोई रिश्तेदार होगा।

😂😂😂😂😂😂

14 साल का विपिन सिनेमा हॅाल में एक पोर्नो मूवी देखकर घर भागने लगा।

गेटकीपर ने उसे रोककर पूछा –

क्या बात है?

तुम ऐसी बेताबी के साथ और टेंशन में क्यों भाग रहे 😂😂😂😂😂😂

 

उस लड़के ने कहा – मेरी मां ने मुझसे कहा था कि तुम कोई गन्दा काम देखोगे तो पत्थर के हो जाओगे।

और सच में मेरा कुछ हिस्सा पत्थर का होने लगा है।

फिर क्या गेटकीपर खुद जान छुड़ा कर भागा।

😂😂😂😂😂

डॉक्टर ने महिला मरीज से कई सवाल पूछने के बाद जानना चाहा –

आपके कितने बच्चे हैं?

 

तनिक लजाते हुए महिला ने बताया –

उतने ही है बस जितने रोनाल्डो की जर्सी के नंबर है😂😂😂😂😂😂😂

क्योंकि शराबी एक मॉडल टैक्सपेयर होता है। किसी भी आइटम पर टैक्स लगाया जाये,

उसे देने वाला बवाल मचा देता है।

पैट्रोल पर एक डेढ़ रुपया बढ़ जाऐ, मार ड्रामा शुरु हो जाता है।

बीएमडब्ल्यु वाला भी हुड़की लगाकर चैनलों को बयान देने लगता है

कि हम मर गये, लुट गये, तबाह हो गये।

पर शराब का खरीदार अत्यँत शालीन होता है।

 

औसतन हर साल शराब के भाव 15-20 परसेंट तो बढ़ते ही है,

दिखा दे मुझे कोई कि कभी किसी शराबी ने चिक-चिक मचायी हो।

इतिहास में एक भी जुलूस ऐसा नहीं दर्ज है,

 

जिसमें शराब के खरीदारों ने डीएम को जुलूस निकालकर ज्ञापन दिया हो कि प्लीज दारु सस्ती कर दो।

ऐसे उद्विग्न समय में शराबी का सा संयम सराहनीय है, ये इतनी दुर्लभ क्वालिटि है

कि सिर्फ शराबियों में ही पायी जाती है। प्रदेश में शराब का कारोबार करीब 14,000 करोड़ रुपये का टर्नओवर दिखा रहा है,

करीब 17,000 दुकानें हैं, सभी पर अनवरत लाईन लगी हुई है,

कई की जालीदार खिडकियाँ तो सुबह ब्रह्मकाल मे ही खडका दी जाती है।

इसलिऐ लोगो को अनुशासन, शालीनता और संयम का पाठ अगर लेना हो तो किसी शराबी

एक फैक्ट्री में उसके मालिक ने अपने कर्मचारियों को प्रेरणा देने के लिए दीवारों पर जगह-जगह “कल करे सो आज कर, आज करे सो अब” लिखवा दिया.

 

.

 

.

😂😂😂😂😂😂😂

एक हफ्ते बाद जब उसने मैनेजर से इस प्रेरक वाक्य के असर के बारे में पूछा तो मैनेजर ने बताया – “बहुत असर हुआ है सर….

 

एकाउन्टेंट 5 लाख रुपये लेकर फरार हो गया है…

 

जूनियर मैनेजर महिला सेक्रेटरी को लेकर गायब हो गया है…

 

तीन क्लर्क सैलरी बढ़ाने की मांग कर रहे हैं…

 

मजदूर हड़ताल पर चले गए हैं और…

 

चपरासियों ने तो दूसरी नौकरी तलाश कर ली है !”

 

आदत से लाचार चुटकुले

श्री नारायण चतुर्वेदी के एक कांग्रेसी मित्र ट्रेन से लखनऊ होकर कही जा रहे थे

 

सौजन्यता वश चतुर्वेदी जी ने स्टेशन पर कांग्रेसी मित्र से ट्रेन पर ही मुलाकात की

 

और उन्हें लखनऊ के स्वादिष्ट खरबूजे दिए पत्रों से हालचाल लिखने के वदो से विदा हुए

 

कुछ दिन बाद उन कांग्रेसी मित्र का पत्र चतुर्वेदी जी के पास आया पत्र में दोहा लिखा था

 

“खरबूजा तो खा गया लिया ना एक डकार।।

कांग्रेसी हु क्या करू, आदत से लाचार।।” 😜😜😜

 

असंगत हास्य – सबसे मजेदार चुटकुले

आगरा के साहित्यकार अमृतलाल चतुर्वेदी के पड़ोस में एक अनपढ़ आदमी रहता था

 

जो गाहे बगाहे अपने परिवार के पत्रों को पढ़वाने के लिए उनके पास आता रहता था

 

उस अनपढ़ के परिवार का एक सदस्य झांसी में रहता था

 

और थोड़ा पढ़ा लिखा था उसे तुकबंदी की भयंकर आदत थी पत्र भी वो तुकबंदी में ही लिखता था

 

एक बार उसी आदमी का लिखा पोस्टकार्ड लेकर वो अनपढ़ आदमी पत्र पढ़वाने चतुर्वेदी जी के पास पहुंचा

 

पत्र में दोहा लिखा था

 

“सिद्धि सी झांसी लिखी राम राम प्रिय भ्रात।।

 

अत्र कुंशल त्रातास्तु, भैया मरी गए रात।।”😜😜😜

 

100 हिन्दी चुटकुले | Funny Hindi Chutkule | 1000 मजेदार चुटकुले

आज का चुटकुला – 100 हिन्दी चुटकुले

एक आदमी नाई की दूकान पर दाढ़ी बनवाने गया।

 

जब नाई उसके चेहरे पर ब्रश से बढ़िया क्रीम से उतना ही बढ़िया झाग बना रहा था।

 

तो उस आदमी ने अपने चेहरे के पिचके गालो की तरफ इशारा करते हुए बोला –

 

मेरे गालो के इस गड्डे के कारण दाढ़ी बढ़िया नहीं बन पाती और कुछ बाल छूट जाते है।

 

कोई बात नहीं नाई आगे बोला – मेरे पास इसका इलाज है

 

उसने पास के दराज मे से लकड़ी की एक छोटी सी गोली निकाली और उसे देते हुवे बोला –

 

इसे मुँह में मसूड़ों और गालो के बिच में रख लो उस आदमी ने वो गोली मुँह में रख ली जिस से उसका गाल फूल गया और नाई ने उसकी अब तक की सबसे शानदार और सबसे बढ़िया दाढ़ी बनाई।

 

अगर ये गोली गलती से पेट में चली जाए तो ?

उस आदमी ने कठिनाई से बोलते हुवे पूछा, गोली उसके मुँह में ही फंसी हुई थी।

 

कोई बात नहीं – नाई बोला –

 

कल लेते हुए आना जैसे की अब तक सभी लोग लेते आये है। 😜😜😜

 

100 हिन्दी चुटकुले | Funny Hindi Chutkule | 1000 मजेदार चुटकुले

100 हिन्दी चुटकुले | Funny Hindi Chutkule | 1000 मजेदार चुटकुले

फनी जोक्स इन हिंदी फॉर व्हाट्सएप्प

एक शरीफ यात्री ने बस कंडक्टर से पूछा – “क्या मैं बस में सिगरेट पी सकता हूँ ?

 

कंडक्टर – “नहीं श्रीमान जी!”

 

“तो फिर बस में ये सिगरेटों के टुकड़े कहाँ से आये हैं ?” – यात्री ने प्रश्न किया.

 

“ये उन लोगों ने फेंके हैं जिन्होंने सिगरेट पीने के लिए मुझसे पूछना जरूरी नहीं समझा था !” – कंडक्टर ने जवाब दिया.

 

एक बदशक्ल महाशय की शादी नहीं हो रहीं थी। उन्होंने अपने एक दोस्त को अपनी तस्वीर इस उद्देश्य से दे रखी थी कि वह उसे अपनी जान—पहचान के दायरे में दिखाकर उसकी शादी की बात चलाये। एक दिन उन्होंने दोस्त से पूछा—’यार मेरी तस्वीर देखकर क्या कन्याओं पर कोई प्रभाव पड़ा है?’

 

‘तुम्हारी तस्वीर देखते ही कन्याएं ‘अरे बाप रे’ कह उठती है।’

 

बीस मजिले मकान मेँ रहने वाले एक व्यक्ति ने खिड़की से देखा कि नीचे जमीन पर 25 पैसे का एक सिक्का पड़ा है। वह उस सिक्के को लेने नीचे उतरा। पन्द्रहवीं मंजिल से देखा तो लगा कि 25 पैसे का नहीं है 50 पैसे का सिक्का है। फिर नौवीं मजिल से देखा तो लगा कि शायद एक रुपये का सिक्का है। वह जल्दी से लिफ्ट से उतरकर नीचे पहुंचा और वहां पहुंचकर सिर पीटकर रह गया, क्योंकि वहां एक कूड़ादान पड़ा था।

 

मुझ पर एक सौ साठ किताबों का उधार चढ़ा है। पर उन्हें रखने का रैक मेरे पास नहीं है क्योंकि कोई बुक—रैक उधार देने को तैयार नहीं होता।

 

वह युवती बिलकुल बिजली है। जिस चीज को छू देती है वही चार्ज हो जाती है।

 

‘आप लोग कहीं जा रहे है?’

 

‘हां।’

 

‘कहां?’

 

‘बंबई।’

 

रेल से?

 

नहीं,हेलीकॅाप्टर से।

 

मगर मुसाफिरों के लिए अभी हेलीकॉप्टर कहां चलता है?

 

जब तक मेरी बीवी का मेकउप – सेकुप खत्म होगा, तब तक चलने लगेगा, भाई।

 

100 हिन्दी चुटकुले | Funny Hindi Chutkule | 1000 मजेदार चुटकुले

‘एक अमीर आदमी को चाहिए कि वह नौकर रखे, रसोइया रखे, धोबी, ड्राइवर और दरबान रखे…’

 

‘और एक गरीब व्यक्ति को?’

 

‘उसे चाहिए कि वह शादी कर ले।’

 

सबको बता दो आज Admin बहुत खुश है!!

 

..

 

क्योंकी

 

.

 

.

 

.

 

पिछले साल का कोट बाहर निकाला,.उसमे 20 रूपये निकले.!!

 

गुस्से में लाल—’पीले होते वे महाशय दर्जी की दुकान पर चढ़े और बोले—’देख रहे हो यह सूट? तुम कहते थे, कपड़ा कम है। मटका गली वाले दर्जी ने उसी कपड़े से खुद भी बनाया और जो कपड़ा बचा, उससे अपने पांच साल के लड़के का एक कोट भी बना लिया। मैं तुमसे पूछता हूं…..’

 

‘मैं खुद ही बताये देता हूं।’ दर्जी विनम्रता से बोला, ‘असल में मेरा लड़का ग्यारह साल का है।’

 

 

हमारा एडमिन एक सुंदर लड़की को हर रोज़ एक गुलाब दिया करता था

 

लाल गुलाब ? वो हँस के लेती थी एडमिन से…?

 

? देता रहा बहुत दिनों तक…

 

फिर उसने कहा “गुलाब के साथ मीठी मिसरी भी लाया करो”…..?

 

एडमिन उसे वो भी देता रहा रोज़…

 

रोज़ एक लाल गुलाब और एक मिसरी की डली…??

 

यूँ ही चलता रहा सिलसिला कुछ हफ़्तों तक…

 

…फ़िर एक दिन एडमिन ने उसे गुलाब दिया पर

 

लड़की ने वापस कर दिया तुरंत…?

 

…और मुस्करा के बोली,

 

“बस भैया अब और जरुरत नहीँ” “गुलकन्द बन गया है.”?

 

???????

 

Admin :- माँ में बाल कटवाने जा रहा हु ।।

 

माँ :-जाओ बेटा, पर कटे हुवे बाल साथ में ले

 

आना ।।

 

Admin :- क्यों ???

.

 

.माँ :-बर्तन मांजने के काम आएंगे ।।।😩😩

जैसे सेल्फी का नया हिंदी नाम मिल गया था” खुदखेंचू”

 

वैसे ही बड़ी खोजबीन के बाद अब कहीं जाकर ” ग्रुप एडमिन” का हिन्दी नाम मिला है –

 

” श्रीमान झुण्डनियंत्रक ”

 

एडमिन पिकनिक पर सदस्यो को शमशान घाट पर ले आया!

 

सदस्य : ये कहाँ लेकर आ गए?

 

एडमिन..अरे पगलो, लोग मरते हैं यहाँ आने के लिए !!!

 

संता एक कंपनी में सिक्यूरिटी गार्ड की नौकरी के लिए इंटरव्यू देने गया।

 

मैनेजर ने कहा – देखो हमें ऐसा आदमी चाहिए जो तन्दुरूस्त हो, चुस्त, चालाक और चौकन्ना हो। और हां, यदि कभी उसे डांट दिया जाए तो बुरा न माने । क्या तुममें ये सारे गुण है ?

 

संता बोला – साहब, ये सारे गुण मेरी बीबी में हैं। उसे

‘डॉक्टर साहब, कोई ऐसा तरीका बताइए, जिससे मैं कम-से-कम सौ बरस तक जीवित रह सकूं।’

 

‘डॉक्टर ने उल्टा स्थान कर दिया-‘क्या तुम शराब पीते हो?’

 

‘जी नहीं’, आए हुए व्यक्ति ने उत्तर दिया।

 

‘क्या तुम सिगरेट पीते हो?’

 

‘नहीं।’

 

‘क्या किसी सुन्दर लड़की से प्रेम करते रहना चाहते हो?’

 

‘नहीं।’

 

डॉक्टर ने हर प्रश्न के उत्तर में ‘नहीं’ सुनकर झल्लताते हुए कहा-‘तो फिर तुम सौ साल तक किसलिए जिन्दा रहना चाहते हो?’

 

एक सुबह बॉस अपने नियत समय से पहले ही ऑफिस पहुंच गए तो पाया कि मैनेजर उनकी सेक्रेटरी का चुम्बन ले रहा है।

 

बॉस ने उसे डांटते हुए कहा – क्या मैं तुम्हें यह सब करने की तनख्वाह देता हूं ?

 

मैनेजर ने जवाब दिया – नहीं सर, यह सब तो मैं फ्री ऑफ चार्ज करता हूं ….

 

संता रास्ते में लड़की को छेड़ते हुए।

 

संता: ओये आइटम क्या हाल है तेरा?

 

लड़की: जो तेरी बहन का है।

 

संता: अच्छा मतलब कि तू भी प्रेंगनेंट है!

संता और बंता साथ में कहीं जा रहे थे।

 

एक लड़की पास से निकली।

 

बंता: वाह यार! क्या माल है।

 

संता: अरे यार माल से याद आया,

 

भाभी कैसी है? 😜😜

 

इंसल्ट की हद!!

मम्मी : जाओ सब्जी लेकर आओ…

Admin : मतलब अब एडमिन..

सब्जी भी लेने जाएगा…??

मम्मी : जा रहा है कि नहीं वरना चप्पल से…

फेसबुक का भूत और झाड़ू से वाट्सएप की

चुड़ैल निकाल दूंगी…

Admin : लाओ झोला….. ?

 

महिला बार-बार वही बात दोहरा रही थी :

 

जल्दी से खा लो वरना हलवा अंकल को दे दूंगी..

जब काफी देर हो गई तो

 

Apna Group Admin bola –

 

बहनजी, आपको जो फैसला करना है,

 

जल्दी कीजिए..

आपके हलवे के चक्कर में

 

मैं 4 स्टॉप आगे आ गया

हाई लेवल मीटिंग में सरकार ने निर्णय लिया हैं

 

कि सारे Whatsapp ग्रुप के एडमिन बॉर्डर पर जाएंगे

 

और वहाँ से लेटेस्ट पिक्चर और विडियो खीच कर

 

अपने ग्रुप मेम्बर्स में देश प्रेम और उत्साह बढ़ाएंगे।😜😜

 

संता डॉक्टर से:

 

मेरी पत्नी की याददाश्त निहायत वाहियात है।

 

डॉक्टर: हर बात भूल जाती है क्या?

 

संता: नहीं जी, हर बात याद रखती है। 😜😜

 

संता काफी देर से अपने मैरिज सर्टिफिकेट को घूर कर देख रहा था।

 

उसकी पत्नी जीतो बोली:

 

इतनी देर से इसे क्यों घूर रहे हो?

 

संता: इसकी एक्सपायरी डेट ढूंढ रहा हूं। 😜😜

 

संता ने बंता से कहा:

 

मैं अमेरिका जाने की सोच रहा हूँ।

 

बंता : बहुत बढ़िया।

 

भला कितना खर्च हो जाएगा?

 

संता: एक पैसा भी नहीं।

 

भला सोचने में पैसा कहाँ खर्च होता है। 😜😜

 

संता बंता के घर खाना खा रहा था।

 

बंता: यार तुम्हारा कुत्ता मुझे काफी देर से घूर रहा है?

 

संता: जल्दी से खाना खा लो, वरना काट भी लेगा,

 

क्योंकि तुम खाना उसी के बर्तन में खा रहे हो! 😜😜

 

संता ने बस में एक लड़की को छेड़ दिया।

 

लड़की: तुम्हारे घर में माँ बहन नहीं है क्या?

 

संता: क्या पता, मैं तो सुबह से घर से बाहर हू। 😜😜

 

भिखारी संता से: कुछ खाने को दो बाबा।

 

संता: टमाटर खाओ।

 

भिखारी: रोटी दो बाबा।

 

संता: टमाटर खाओ।

 

भिखारी: चलो टमाटर ही खिला दो।

 

तभी संता की पत्नी जीतो बोली:

 

इनकी जीभ पर छाला हुआ है,

 

यह कह रहे हैं कमाकर खाओ। 😜😜

 

मथुरा के कलेक्टर रहे श्री ग्राउस पक्के रामायणी थे

एक बार उनकी अदालत में एक अपराधी लाया गया

जिरह के वक़्त अपराधी ने ये सोचकर की ग्राउस साहब खुस होकर उन्हें मुक्त कर देंगे

तो अपराधी ने ये चौपाय बोली:-

“होइ है सोइ जो राम रची राखा |

को करी तर्क बड़ा वही साखा |”

 

और फिर ग्राउस साहब ने उनकी चौपाय का जवाब कुछ यु दिया

“कर्म प्रधान विश्व करी राखा ||

जो जस करसी सो तस फल चाखा ||”

 

😜😜

 

100 हिन्दी चुटकुले – गूगल आरती

ओम जये गूगल हरे।। स्वामी ओम जय गूगल हरे।।

प्रोग्रामर्स के संकट और डेवेलपर्स के संकट पल भर में दूर करे।।

ओम जये गूगल हरे।।

जो ध्यावे वो पावे, दुःख बिन से मन का,

स्वामी दुःख बिन से मन का।

होमपेज की सम्पति लावे, होमवर्क पूर्ण करावे।

कष्ट मिटे वर्क का।

स्वामी ओम जये गूगल हरे।।

तुम पूरन सर्च इंजन तुम इंटरनेट यामी

स्वामी तुम इंटरनेट यामी।

पार करो हमारे पगार, पार करो हमारे साक्षात्कार,

तुम दुनिया के स्वामी।

स्वामी ओम जय गूगल हरे।।

तुम जानकारी के सागर, तुम पालन कर्ता

स्वामी तुम पालन कर्ता

मैं मूरख खल्कामी, मैं सर्चर तुम सर्वर,

स्वामी तुम कर्ता धर्ता।

स्वामी ओम जय गूगल हरे।।

दिन बंधू दुःख हर्ता,तुम रक्षक मेरे।।

स्वामी तुम ठाकुर मेरे।।

अपनी सर्च दिखाओ, सारी रिसर्च कराओ।।

साइट पर खड़ा में तेरे।।

स्वामी ओम जय गूगल हरे।।

गूगल देवता की आरती जो कोई प्रोग्रामर गावे।।

स्वामी जो कोई भी प्रोग्रामर गावे।।

कहत सुन स्वामी, ऍम एस हरिहर स्वामी,

मनवांछित फल पावे।।

स्वामी ओम जय गूगल हरे।।

बोलो गूगल देवता की. . . . . . . जय

(किसी सच्चे भक्त द्वारा रोमन रोमन लिपि में लिखे गए इंटरनेट पर बिचर रहे आरती का साभार, हिंदी ट्रांसलेशन )

 

मजेदार हिंदी चुटकुले – सरप्राइज पार्टी

राज सारा दिन अपने काम में व्यस्त रहता था। रुपिया कमाने के लिए आखिर मेहनत तो करनी ही होती है।

वो अपनी बीवी से कहा करता था। जिसे राज अक्सर समय नहीं दे पाता था। और इसी वजह से अक्सर वो शाम और देर रात तक

अपने क्लाइंटों में उलझा रहता था।

 

राज के जन्म दिन पर उसकी बीवी ने उसे बढ़िया सरप्राइज पार्टी देने की सोची। बेचारा राज व्यावसायिक दायित्वों के चलते मौज मस्ती का भी समय जो नहीं निकाल पाता था।

 

राज पूछता ही रहा की कहा चल रहे है पार्टी के लिए लेकिन उसकी बीवी ने अंत तक नहीं बताया जब तक की वे पार्टी स्थल पर पहुंच नहीं गए।

 

उसकी बीवी ने एक बढ़िया आलिशान स्ट्रिपटीज डांसबार में उसके लिए पार्टी का आयोजन किया था।

 

डांसबार में प्रवेश के समय ही दरबान ने एक कड़क सेलूट और भरपूर मुस्कान के साथ ठोका – और बोला

 

हेलो मिस्टर राज आज मिजाज कैसे है आपके?

 

उसकी बीवी थोड़ी चौकी फिर लगा की क्लाइंटों के साथ कभी आये होंगे यहाँ।

 

बार में ड्रिंक के बिच हलकान होते उसके पति के पास एक बार गर्ल आयी और अपनी बाहो को राज के गले में डाल कर बोली

 

हाई हैंडसम आज क्या बात है – मूड उखड़ा है?

 

जैसे तैसे राज से उस बार गर्ल से जान छुड़ाया तो एक दूसरी बार गर्ल आयी और राज के गाल चूमकर बोली – हाई डार्लिंग व्हाट अबाउट टुडे?

 

उसकी बीवी जो रोने रोने को थी – अचानक सुबकिया लेते बाहर भागी सामने स्टैंड पर जो टैक्सी दिखी उस पर सवार हुई और घर चलने को कहा।

 

पीछे से राज भी दौड़ता हुआ आया और उसे समझाने की कोशिश करने लगा लेकिन उसकी बीवी का रोना रुक ही नहीं रहा था।

 

जितने में टैक्सी ड्राइवर भी बोला – ऐसा प्रतीत होता है मिस्टर राज की, आज आपका टांका किसी मूडी लड़की से भीड़ गया है।

 

 

श्रीमती जी मुझे डांटकर अन्दर चली गई एवं अरुण अन्दर से डाट खाकर मेरे नजदीक आकर खड़ा हो गया।

मैंने कहा – चलो बेटे रोना बन्द करो मैं तुम्हें एक कहानी सुनाता हूं।

वह खामोश हो गया।

मैने कहा – पहले कहीं कुछ नहीं था ये पृथ्वी,

आकाश जल कुछ भी नहीं।

भगवान ने पहले धरती बनाई फिर थोड़ी देर आराम किया।

फिर भगवान ने नर बनाया एवं थोड़ी देर आराम किया।

फिर भगवान ने औरत बनाई….।

और थोड़ी देर आराम किया, है न? अरुण ने पूछा।

नहीं। मैंने कहा –

तब से ना नर को आराम मिला न भगवान को।

 

एक नए कलाकार ने नाटक के निर्देशक से पूछा –

मुझे पागल का अभिनय करने के लिए क्या करना पड़ेगा?

निर्देशक महोदय ने उसकी चुटकी ली – अरे भाया, कुछ नहीं।

जैसा दिख रहे हो, बिलकुल ठीक हो।

 

सेठ (नए वकील है) – वकील साहब आपकी बात से मुझे राम जेठमलानी की याद आ गई।

वकील – अजी साहब, कहां जेठमलानी, कहां मैं।

वह तो हिन्दुस्तान के बुजुर्ग बैरिस्टरों में गिने जाते हैं?

सेठ – मैं बुजुर्गों की नहीं , फीस की बात कर रहा हूं।

 

पूरी दुनिया में मेरी पत्नी जैसी कोई भी औरत नहीं है।

एवं ये मेरी ही नहीं,

उसकी भी राय है।

 

एक अभिनेत्री ने एक जाने माने अभिनेता से अदालत में शादी की,

परन्तु फार्म पर खुद पति के हस्ताक्षर के नीचे हस्ताक्षर करने के तुरन्त बाद ही उसने खुद वकील से तलाक के लिए अर्जी देने को कहा।

उसका कारण पूछने पर ये बोली – अभी तक जहां भी मेरा नाम लिखा गया है,

सदैव हीरो से ऊपर लिखा गया।

फिर मैं ये कैसे बर्दाश्त कर सकती हूं कि मेरे पति का नाम मेरे नाम से ऊपर आए।

 

एक पठान (कर्जदार से) – तुम मेरे पैसे कब तक लौटा दोगे?

कर्जदार – मुझसे क्यों पूछते हो, मैं क्या ज्योतिषी हूं?

 

एक दोस्त (दूसरे से) – शादी के बाद क्या होता है?

दूसरा –

पहले साल में आदमी बोलता है एवं स्त्री सुनती है।

दूसरे साल में स्त्री बोलती है एवं आदमी सुनता है।

एवं तीसरे साल में दोनों बोलते है एवं पड़ोसी सुनते हैं।

 

एक नए वकील ने खुद दफ्तर खोला।

दूसरे ही दिन प्रथम मुवक्किल आता हुआ दिखाई दिया।

जैसे ही मुवक्किल अन्दर घुसने लगा, वकील टेलीफोन उठाकर दो सेकंड ठहरा एवं बोला –

देखो, राय बहादुर चुन्नीलाल से कहो कि वह अपील करके जीत गए हैं।

फिर नवागन्तुक की तरफ देखकर बोला – जी जनाब, फरमाइये, मैं आपकी क्या सेवा कर सकता हूं?

वह हिचकिचाते हुए बोला – मेरी…..?

मैं तो आपका टेलीफोन ठीक करने आया हूं।

 

मुकदमा जायदाद का था।

वकील साहब अदालत के भीतर जा रहे थे कि उनकी मुलाकात दूसरे पक्ष के वकील से हो गई।

दुआ-सलाम के बाद उन्होंने पूछा – और आपके साथ ये कौन हैं, आपके गवाह?

जी हां

तो वकील साहब, यही फैसला कर लीजिए, तुम जीत गए।

इन गवाहों को दो बार मैं भी मुकदमे में पेश कर चुका हूं।

 

मालिक – हमें नौकर की जरुरत तो है परन्तु हमे ऐसा नौकर चाहिए जो कंजूस हो।

नौकर – कंजूसी के कारण ही तो मैं पिछली क्षेत्र से निकाल दिया गया था।

मालिक – वह कैसे?

नौकर – दरअसल मैं गंदे हो जाने के डर से खुद अपने कपडों को न पहनकर मालिक के कपड़े ही पहन लिया करता था।

 

हास्य चुटकुले हिन्दी में – वयस्कों के लिए मजेदार चुटकुले

एक सेठजी बहुत बीमार हो गए।

घर वालों को उनके बचने की भी उम्मीद नहीं रही।

सारे घर वाले उनके नजदीक चिन्तित से खड़े थे।

तभी अचानक सेठजी ने अपनी पत्नी से पूछा-

बड़ा लड़का कहां है?

यहीं है?

और तीनों लड़कियां?

आपके सिरहाने खड़ी हैं।

और दोनों छोटे लड़के?

वे भी यहीं हैँ।

फिर क्या दुकान

 

फैंसी ब्लाउज दोस्त से कहता है, “यार, मुझे बहुत दर्द हो रहा है।”

दोस्त ने पुराने दांत से पूछा, “क्या तू डॉक्टर के पास गया है?”

पुराना दांत हँसते हुए बोला, “हाँ, उसने कहा है कि मुझे निकालना पड़ेगा!”

 

एक आदमी एक रेस्टोरेंट में वेटर से पूछता है, “यहां एक्सप्रेस कितने वक्त लगता है?”

वेटर ने कहा, “आपकी उम्र के आधार पर सर, इंडिया एक्सप्रेस बहुत ज्यादा लगती है!”

 

नई फनी जोक्स

एक बच्चा अपनी मां से पूछता है, “माँ, आप मेरे जीवन के बारे में क्या सोचती हो?”

मां ने हँसते हुए कहा, “मैं तुम्हारे जीवन के बारे में सोचती हूँ कि तुम मुझे और कब उल्लू बनाओगे!”

 

एक पेड़ और एक बादल चुपके से बात कर रहे होते हैं।

पेड़: “तुम मुझे जल देते हो और मैं तुम्हें ऑक्सीजन देता हूँ। हम सच में बहुत अजीब हैं!”

बादल: “हाँ, यह तो हमेशा से बोलते हैं – पेड़ हमारे दोस्त हैं, वे हमें जीने की वजह देते हैं!”

 

एक पत्नी अपने पति से कहती है, “तुम्हारा मोबाइल फोन मेरे सोने की रिंगटोन जैसा होना चाहिए।” पति बोलता है, “ठीक है, तब से आपको हर बार जब भी कोई कॉल आएगा, मुझे चीखने का मन हो जाएगा!”

 

साहित्यप्रेमी दूल्हा सुहागरात को अपनी दुल्हन से बोला –

प्रिये, आज से आप ही मेरी

शांति हो,

भावना हो,

कविता हो,

कामना हो।

 

दुल्हन ने यह सुनकर दूल्हे से कहा –

मेरे लिए भी आज से आप ही मेरे

गोविन्द हो,

सलमान हो,

शाहरुख़

पति इतने सारे नाम सुनकर बेहोस।

 

एक शराबी आधी रात को पुलिस स्टेशन पहुंचा।

उसे देखकर ड्यूटी पर मौजूद इंस्पेक्टर कड़क कर बोला के –

इतनी शराब पीकर तुम्हें यहां पोलिश थाने आते हुवे डर नहीं लगा?

 

शराबी बहकते हुए बोला –

अच्छा मुझे पता नहीं था कि यहां भी मेरी बीवी का कोई रिश्तेदार होगा।

 

14 साल का विपिन सिनेमा हॅाल में एक पोर्नो मूवी देखकर घर भागने लगा।

गेटकीपर ने उसे रोककर पूछा –

क्या बात है?

तुम ऐसी बेताबी के साथ और टेंशन में

 

उस लड़के ने कहा – मेरी मां ने मुझसे कहा था कि तुम कोई गन्दा काम देखोगे तो पत्थर के हो जाओगे।

और सच में मेरा कुछ हिस्सा पत्थर का होने लगा है।

फिर क्या गेटकीपर खुद जान छुड़ा कर भागा।

 

डॉक्टर ने महिला मरीज से कई सवाल पूछने के बाद जानना चाहा –

आपके कितने बच्चे हैं?

 

तनिक लजाते हुए महिला ने बताया –

उतने ही है बस जितने रोनाल्डो की जर्सी के नंबर हैँ।

 

😂😂😂😂

शराब का हमारी अर्थव्यवस्था में बडा महत्व है,

क्योंकि शराबी एक मॉडल टैक्सपेयर होता है। किसी भी आइटम पर टैक्स लगाया जाये,

उसे देने वाला बवाल मचा देता है।

पैट्रोल पर एक डेढ़ रुपया बढ़ जाऐ, मार ड्रामा शुरु हो जाता है।

बीएमडब्ल्यु वाला भी हुड़की लगाकर चैनलों को बयान देने लगता है

कि हम मर गये, लुट गये, तबाह हो गये।

पर शराब का खरीदार अत्यँत शालीन होता है।

 

औसतन हर साल शराब के भाव 15-20 परसेंट तो बढ़ते ही है,

दिखा दे मुझे कोई कि कभी किसी शराबी ने चिक-चिक मचायी हो।

इतिहास में एक भी जुलूस ऐसा नहीं दर्ज है,

 

जिसमें शराब के खरीदारों ने डीएम को जुलूस निकालकर ज्ञापन दिया हो कि प्लीज दारु सस्ती कर दो।

ऐसे उद्विग्न समय में शराबी का सा संयम सराहनीय है, ये इतनी दुर्लभ क्वालिटि है

कि सिर्फ शराबियों में ही पायी जाती है। प्रदेश में शराब का कारोबार करीब 14,000 करोड़ रुपये का टर्नओवर दिखा रहा है,

करीब 17,000 दुकानें हैं, सभी पर अनवरत लाईन लगी हुई है,

कई की जालीदार खिडकियाँ तो सुबह ब्रह्मकाल मे ही खडका दी जाती है।

इसलिऐ लोगो को अनुशासन, शालीनता और संयम का पाठ अगर लेना हो तो किसी शराबी से ले।

 

 

एक फैक्ट्री में उसके मालिक ने अपने कर्मचारियों को प्रेरणा देने के लिए दीवारों पर जगह-जगह “कल करे सो आज कर, आज करे सो अब” लिखवा दिया.

 

एक हफ्ते बाद जब उसने मैनेजर से इस प्रेरक वाक्य के असर के बारे में पूछा तो मैनेजर ने बताया – “बहुत असर हुआ है सर….

 

एकाउन्टेंट 5 लाख रुपये लेकर फरार हो गया है…

 

जूनियर मैनेजर महिला सेक्रेटरी को लेकर गायब हो गया है…

 

तीन क्लर्क सैलरी बढ़ाने की मांग कर रहे हैं…

 

मजदूर हड़ताल पर चले गए हैं और…

 

चपरासियों ने तो दूसरी नौकरी तलाश कर ली है !”

 

आदत से लाचार चुटकुले

श्री नारायण चतुर्वेदी के एक कांग्रेसी मित्र ट्रेन से लखनऊ होकर कही जा रहे थे

 

सौजन्यता वश चतुर्वेदी जी ने स्टेशन पर कांग्रेसी मित्र से ट्रेन पर ही मुलाकात की

 

और उन्हें लखनऊ के स्वादिष्ट खरबूजे दिए पत्रों से हालचाल लिखने के वदो से विदा हुए

 

कुछ दिन बाद उन कांग्रेसी मित्र का पत्र चतुर्वेदी जी के पास आया पत्र में दोहा लिखा था

 

“खरबूजा तो खा गया लिया ना एक डकार।।

कांग्रेसी हु क्या करू, आदत से लाचार।।” 😜😜😜

 

असंगत हास्य – सबसे मजेदार चुटकुले

आगरा के साहित्यकार अमृतलाल चतुर्वेदी के पड़ोस में एक अनपढ़ आदमी रहता था

 

जो गाहे बगाहे अपने परिवार के पत्रों को पढ़वाने के लिए उनके पास आता रहता था

 

उस अनपढ़ के परिवार का एक सदस्य झांसी में रहता था

 

और थोड़ा पढ़ा लिखा था उसे तुकबंदी की भयंकर आदत थी पत्र भी वो तुकबंदी में ही लिखता था

 

एक बार उसी आदमी का लिखा पोस्टकार्ड लेकर वो अनपढ़ आदमी पत्र पढ़वाने चतुर्वेदी जी के पास पहुंचा

 

पत्र में दोहा लिखा था

 

“सिद्धि सी झांसी लिखी राम राम प्रिय भ्रात।।

 

अत्र कुंशल त्रातास्तु, भैया मरी गए रात।।”😜😜

एक आदमी नाई की दूकान पर दाढ़ी बनवाने गया।

 

जब नाई उसके चेहरे पर ब्रश से बढ़िया क्रीम से उतना ही बढ़िया झाग बना रहा था।

 

तो उस आदमी ने अपने चेहरे के पिचके गालो की तरफ इशारा करते हुए बोला –

 

मेरे गालो के इस गड्डे के कारण दाढ़ी बढ़िया नहीं बन पाती और कुछ बाल छूट जाते है।

 

कोई बात नहीं नाई आगे बोला – मेरे पास इसका इलाज है

 

उसने पास के दराज मे से लकड़ी की एक छोटी सी गोली निकाली और उसे देते हुवे बोला –

 

इसे मुँह में मसूड़ों और गालो के बिच में रख लो उस आदमी ने वो गोली मुँह में रख ली जिस से उसका गाल फूल गया और नाई ने उसकी अब तक की सबसे शानदार और सबसे बढ़िया दाढ़ी बनाई।

 

अगर ये गोली गलती से पेट में चली जाए तो ?

उस आदमी ने कठिनाई से बोलते हुवे पूछा, गोली उसके मुँह में ही फंसी हुई थी।

 

कोई बात नहीं – नाई बोला –

 

कल लेते हुए आना जैसे की अब तक सभी लोग लेते आये है। 😜😜

एक शरीफ यात्री ने बस कंडक्टर से पूछा – “क्या मैं बस में सिगरेट पी सकता हूँ ?

 

कंडक्टर – “नहीं श्रीमान जी!”

 

“तो फिर बस में ये सिगरेटों के टुकड़े कहाँ से आये हैं ?” – यात्री ने प्रश्न किया.

 

“ये उन लोगों ने फेंके हैं जिन्होंने सिगरेट पीने के लिए मुझसे पूछना जरूरी नहीं समझा था !” – कंडक्टर ने जवाब दिया.

 

एक बदशक्ल महाशय की शादी नहीं हो रहीं थी। उन्होंने अपने एक दोस्त को अपनी तस्वीर इस उद्देश्य से दे रखी थी कि वह उसे अपनी जान—पहचान के दायरे में दिखाकर उसकी शादी की बात चलाये। एक दिन उन्होंने दोस्त से पूछा—’यार मेरी तस्वीर देखकर क्या कन्याओं पर कोई प्रभाव पड़ा है?’

 

‘तुम्हारी तस्वीर देखते ही कन्याएं ‘अरे बाप रे’ कह उठती है।’

 

बीस मजिले मकान मेँ रहने वाले एक व्यक्ति ने खिड़की से देखा कि नीचे जमीन पर 25 पैसे का एक सिक्का पड़ा है। वह उस सिक्के को लेने नीचे उतरा। पन्द्रहवीं मंजिल से देखा तो लगा कि 25 पैसे का नहीं है 50 पैसे का सिक्का है। फिर नौवीं मजिल से देखा तो लगा कि शायद एक रुपये का सिक्का है। वह जल्दी से लिफ्ट से उतरकर नीचे पहुंचा और वहां पहुंचकर सिर पीटकर रह गया, क्योंकि वहां एक कूड़ादान पड़ा था।

 

मुझ पर एक सौ साठ किताबों का उधार चढ़ा है। पर उन्हें रखने का रैक मेरे पास नहीं है क्योंकि कोई बुक—रैक उधार देने को तैयार नहीं होता।

 

वह युवती बिलकुल बिजली है। जिस चीज को छू देती है वही चार्ज हो जाती है।

 

‘आप लोग कहीं जा रहे है?’

 

‘हां।’

 

‘कहां?’

 

‘बंबई।’

 

रेल से?

 

नहीं,हेलीकॅाप्टर से।

 

मगर मुसाफिरों के लिए अभी हेलीकॉप्टर कहां चलता है?

 

जब तक मेरी बीवी का मेकउप – सेकुप खत्म होगा, तब तक चलने लगेगा,

‘एक अमीर आदमी को चाहिए कि वह नौकर रखे, रसोइया रखे, धोबी, ड्राइवर और दरबान रखे…’

 

‘और एक गरीब व्यक्ति को?’

 

‘उसे चाहिए कि वह शादी कर ले।’

 

सबको बता दो आज Admin बहुत खुश है!!

 

क्योंकी

 

पिछले साल का कोट बाहर निकाला,.उसमे 20 रूपये निकले.!!

प्रोफेसर चिम्मनलाल फिलॉसफी का अध्ययन करने के बाद बेडरूम में घुसे और अपने बिस्तर पर एक स्त्री को देखकर बिगड़ गए-‘श्रीमती जी, आप मेरे बिस्तर पर क्या कर रही हैं?’

 

‘मुझें आपका बिस्तर पसन्द है, आपका नाम पसन्द है, आपका घर पसन्द है, तभी मैंने आपसे विवाह किया था।’ श्रीमती चिम्मनलाल गरज कर बोली, ‘लेकिन अब मुझे बहुत अफसोस है! मैंने किस भुलक्कड़ से शादी कर ली जो अपनी पत्नी को भी नहीं पहचानता।’

 

इस डायरेक्ट एक्शन से प्रोफेसर चिम्मनलाल झुंझला उठे-‘तुम यह कैसे कह सकती हो कि मेरी याददाश्त खराब है। मेरी स्मरण शक्ति ए-वन है। तीन चीजें केवल ऐसी हैं जो मुझे याद नहीं रहतीं। मुझें नाम याद नहीं रहते, मुझें शक्ल याद नहीं रहती और तीसरे क्या चीज याद नहीं रहती, मैं इस समय भूल रहा हूं।’

 

गुस्से में लाल—’पीले होते वे महाशय दर्जी की दुकान पर चढ़े और बोले—’देख रहे हो यह सूट? तुम कहते थे, कपड़ा कम है। मटका गली वाले दर्जी ने उसी कपड़े से खुद भी बनाया और जो कपड़ा बचा, उससे अपने पांच साल के लड़के का एक कोट भी बना लिया। मैं तुमसे पूछता हूं…..’

 

‘मैं खुद ही बताये देता हूं।’ दर्जी विनम्रता से बोला, ‘असल में मेरा लड़का ग्यारह साल का है।

हमारा एडमिन एक सुंदर लड़की को हर रोज़ एक गुलाब दिया करता था

 

लाल गुलाब ? वो हँस के लेती थी एडमिन से…?

 

? देता रहा बहुत दिनों तक…

 

फिर उसने कहा “गुलाब के साथ मीठी मिसरी भी लाया करो”…..?

 

एडमिन उसे वो भी देता रहा रोज़…

 

रोज़ एक लाल गुलाब और एक मिसरी की डली…??

 

यूँ ही चलता रहा सिलसिला कुछ हफ़्तों तक…

 

…फ़िर एक दिन एडमिन ने उसे गुलाब दिया पर

 

लड़की ने वापस कर दिया तुरंत…?

 

…और मुस्करा के बोली,

 

“बस भैया अब और जरुरत नहीँ” “गुलकन्द बन गया है.”?

 

???????

 

Admin :- माँ में बाल कटवाने जा रहा हु ।।

 

माँ :-जाओ बेटा, पर कटे हुवे बाल साथ में ले

 

आना ।।

 

Admin :- क्यों ??

.

.माँ :-बर्तन मांजने के काम आएंगे ।।।

जैसे सेल्फी का नया हिंदी नाम मिल गया था” खुदखेंचू”

 

वैसे ही बड़ी खोजबीन के बाद अब कहीं जाकर ” ग्रुप एडमिन” का हिन्दी नाम मिला है –

 

” श्रीमान झुण्डनियंत्रक ”

 

एडमिन पिकनिक पर सदस्यो को शमशान घाट पर ले आया!

 

सदस्य : ये कहाँ लेकर आ गए?

 

एडमिन..अरे पगलो, लोग मरते हैं यहाँ आने के लिए !!!

😂😂😂

संता एक कंपनी में सिक्यूरिटी गार्ड की नौकरी के लिए इंटरव्यू देने गया।

 

मैनेजर ने कहा – देखो हमें ऐसा आदमी चाहिए जो तन्दुरूस्त हो, चुस्त, चालाक और चौकन्ना हो। और हां, यदि कभी उसे डांट दिया जाए तो बुरा न माने । क्या तुममें ये सारे गुण है ?

 

संता बोला – साहब, ये सारे गुण मेरी बीबी में हैं। उसे बुलाऊं ?

😂😂😂😂😂

‘डॉक्टर साहब, कोई ऐसा तरीका बताइए, जिससे मैं कम-से-कम सौ बरस तक जीवित रह सकूं।’

 

‘डॉक्टर ने उल्टा स्थान कर दिया-‘क्या तुम शराब पीते हो?’

 

‘जी नहीं’, आए हुए व्यक्ति ने उत्तर दिया।

 

‘क्या तुम सिगरेट पीते हो?’

 

‘नहीं।’

 

‘क्या किसी सुन्दर लड़की से प्रेम करते रहना चाहते हो?’

 

‘नहीं।’

 

डॉक्टर ने हर प्रश्न के उत्तर में ‘नहीं’ सुनकर झल्लताते हुए कहा-‘तो फिर तुम सौ साल तक किसलिए जिन्दा रहना चाहते हो?’

 

एक सुबह बॉस अपने नियत समय से पहले ही ऑफिस पहुंच गए तो पाया कि मैनेजर उनकी सेक्रेटरी का चुम्बन ले रहा है।

 

बॉस ने उसे डांटते हुए कहा – क्या मैं तुम्हें यह सब करने की तनख्वाह देता हूं ?

 

मैनेजर ने जवाब दिया – नहीं सर, यह सब तो मैं फ्री ऑफ चार्ज करता हूं ….

😂😂😂😂

संता रास्ते में लड़की को छेड़ते हुए।

 

संता: ओये आइटम क्या हाल है तेरा?

 

लड़की: जो तेरी बहन का है।

 

संता: अच्छा मतलब कि तू भी प्रेंगनेंट है! 😜

 

😂😂😂😂😂

संता और बंता साथ में कहीं जा रहे थे।

 

एक लड़की पास से निकली।

 

बंता: वाह यार! क्या माल है।

 

संता: अरे यार माल से याद आया,

 

 

 

 

 

 

 

😂😂😂😂😂😂

श्रीमती जी मुझे डांटकर अन्दर चली गई एवं अरुण अन्दर से डाट खाकर मेरे नजदीक आकर खड़ा हो गया।

मैंने कहा – चलो बेटे रोना बन्द करो मैं तुम्हें एक कहानी सुनाता हूं।

वह खामोश हो गया।

मैने कहा – पहले कहीं कुछ नहीं था ये पृथ्वी,

आकाश जल कुछ भी नहीं।

भगवान ने पहले धरती बनाई फिर थोड़ी देर आराम किया।

फिर भगवान ने नर बनाया एवं थोड़ी देर आराम किया।

फिर भगवान ने औरत बनाई….।

और थोड़ी देर आराम किया, है न? अरुण ने पूछा।

नहीं। मैंने कहा –

तब से ना नर को आराम मिला न भगवान को।

😂😂😂😂😂😂😂

एक नए कलाकार ने नाटक के निर्देशक से पूछा –

मुझे पागल का अभिनय करने के लिए क्या करना पड़ेगा?

निर्देशक महोदय ने उसकी चुटकी ली – अरे भाया, कुछ नहीं।

जैसा दिख रहे हो, बिलकुल ठीक हो।

😂😂😂😂😂😂😂

सेठ (नए वकील है) – वकील साहब आपकी बात से मुझे राम जेठमलानी की याद आ गई।

वकील – अजी साहब, कहां जेठमलानी, कहां मैं।

वह तो हिन्दुस्तान के बुजुर्ग बैरिस्टरों में गिने जाते हैं?

सेठ – मैं बुजुर्गों की नहीं , फीस की बात कर रहा हूं।

😂😂😂😂😂😂

पूरी दुनिया में मेरी पत्नी जैसी कोई भी औरत नहीं है।

एवं ये मेरी ही नहीं,

उसकी भी राय है।

😂😂😂😂😂😂😂

एक अभिनेत्री ने एक जाने माने अभिनेता से अदालत में शादी की,

परन्तु फार्म पर खुद पति के हस्ताक्षर के नीचे हस्ताक्षर करने के तुरन्त बाद ही उसने खुद वकील से तलाक के लिए अर्जी देने को कहा।

उसका कारण पूछने पर ये बोली – अभी तक जहां भी मेरा नाम लिखा गया है,

सदैव हीरो से ऊपर लिखा गया।

फिर मैं ये कैसे बर्दाश्त कर सकती हूं कि मेरे पति का नाम मेरे नाम से ऊपर आए।

😂😂😂😂😂😂

एक पठान (कर्जदार से) – तुम मेरे पैसे कब तक लौटा दोगे?

कर्जदार – मुझसे क्यों पूछते हो, मैं क्या ज्योतिषी हूं?

😂😂😂😂😂😂

एक दोस्त (दूसरे से) – शादी के बाद क्या होता है?

दूसरा –

पहले साल में आदमी बोलता है एवं स्त्री सुनती है।

दूसरे साल में स्त्री बोलती है एवं आदमी सुनता है।

एवं तीसरे साल में दोनों बोलते है एवं पड़ोसी सुनते हैं।

😂😂wow 😂😂😂

एक नए वकील ने खुद दफ्तर खोला।

दूसरे ही दिन प्रथम मुवक्किल आता हुआ दिखाई दिया।

जैसे ही मुवक्किल अन्दर घुसने लगा, वकील टेलीफोन उठाकर दो सेकंड ठहरा एवं बोला –

देखो, राय बहादुर चुन्नीलाल से कहो कि वह अपील करके जीत गए हैं।

फिर नवागन्तुक की तरफ देखकर बोला – जी जनाब, फरमाइये, मैं आपकी क्या सेवा कर सकता हूं?

वह हिचकिचाते हुए बोला – मेरी…..?

मैं तो आपका टेलीफोन ठीक करने आ

मुकदमा जायदाद का था।

वकील साहब अदालत के भीतर जा रहे थे कि उनकी मुलाकात दूसरे पक्ष के वकील से हो गई।

दुआ-सलाम के बाद उन्होंने पूछा – और आपके साथ ये कौन हैं, आपके गवाह?

जी हां

तो वकील साहब, यही फैसला कर लीजिए, तुम जीत गए।

इन गवाहों को दो बार मैं भी मुकदमे में पेश कर चुका हूं।

😂😂😂😂😂😂

मालिक – हमें नौकर की जरुरत तो है परन्तु हमे ऐसा नौकर चाहिए जो कंजूस हो।

नौकर – कंजूसी के कारण ही तो मैं पिछली क्षेत्र से निकाल दिया गया था।

मालिक – वह कैसे?

नौकर – दरअसल मैं गंदे हो जाने के डर से खुद अपने कपडों को न पहनकर मालिक के कपड़े ही पहन लिया करता था।

😂😂😂😂😂😂

Editor

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़ें

Back to top button
E7Live TV

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker