नेशनल हेडलाइंस

Breking news goverment karmchariyo ke liye khuskhabri : सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी इतनी बढ़ेगी सैलरी

goverment karmchariyo ke liye khuskhabri : सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी इतनी बढ़ेगी सैलरी

देशभर के सरकारी कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है सरकार अब आठवां वेतन लागू करने जा रही है और सरकारी कर्मचारियों की तनख्वाह अब बढ़ाने वाली है कई सरकारी कर्मचारी अभी भी इस बात का विरोध कर रहे हैं उनकी मांग है की पुरानी पेंशन को बहाल किया जाए कर्मचारी आठवी वेतन आयोग को तुरंत लागू करने का विरोध कर रहे हैं इसके साथ ही कर्मचारी चाहते हैं की पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू की जाए ऐसे में सरकार अप्रैल में में प्रस्तावित लोकसभा चुनाव से पहले कर्मचारियों की मांगे पूरी कर सकती है।

सरकार के इस निर्णय पर कई कर्मचारियों ने नाराजगी भी जाहिर की है तो कइयों ने इसे अच्छा बताया है आठवां वेतन आयोग लागू होने के बाद सरकारी कर्मचारी की तनख्वाह बढ़ जाएगी वहीं कुछ सरकारी कर्मचारियों की मां की पुरानी पेंशन को बहाल किया जाए जो बुढ़ापे का एक सहारा होता है यह 2004 से पुरानी पेंशन को बंद कर दिया गया जो अभी तक बहाल नहीं किया गया इसको बाहर किया जाए जिससे सर्विस करने के बाद जीवन यापन करने में सहयोग मिले।

सातवें वेतन आयोग की स्थापना 2014 में की गई थी अब आठवीं वेतन आयोग लागू करने का प्रस्ताव है जिससे कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी होगी आयोग 21 तारीख से काम शुरू करेगा या तय नहीं हुआ है आठवी वेतन आयोग में एलिजिबिलिटी फैक्टर करीब 3.68 गुना तक बढ़ सकता है ऐसे में कर्मचारियों के मूल वेतन में 44.44 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है जिससे उन्हें अतिरिक्त आज मिलेगा सातवें वेतन आयोग के चलते कर्मचारियों का न्यूनतम मूल वेतन 18000 रुपए है।

2023 से केंद्रीय कर्मचारी और पेंशन भोगियों के लिए सरकारी भत्ता 42 परसेंट से बढ़कर 46% तक कर दिया गया है अब जनवरी से लेकर भत्ता 4% बड़ा गया है यह बढ़कर 50% तक हो सकते हैं जिससे कर्मचारियों को ज्यादा पैसा मिलेगा सरकार से उम्मीदें आठवीं वेतन आयोग के क्रियान्वयन को लेकर चर्चा शुरू हो गई और कर्मचारियों की उम्मीद है कि इससे उन्हें बेहतर वेतन मिलेगा।

Editor

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़ें

Back to top button
E7Live TV

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker