नेशनल हेडलाइंस

Ayodhya Ram Mandir Pran Pratishtha: रामानंद सागर की ‘रामायण’ ने सालों पहले इस तरह बनाई थी लोगों के दिलों में जगह, 65 करोड़ लोगों ने देखा था पहला एपिसोड

1987 में दूरदर्शन पर आई अरुण गोविल- दीपिका चिखलिया की रामायण की आज भी लोगों के दिलों में खास जगह है। अयोध्या राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के बीच जानें इस रामायण से जुड़े दिलचस्प किस्से।

ayodhya ram mandir pran pratishtha arun govil dipika chikhlia ramanand sagar ramayan

श्री राम का चरित्र करुणा, त्याग, मर्यादा, धर्म और प्रेम के मार्ग पर चलते हुए जीवन जीना सिखाता है। राम जी के चरित्र को परदे पर कई बार उतारा गया है। टेलीविजन और फिल्मों में कई बार रामायण की कथा को दिखाया गया है। लेकिन 1987 में दूरदर्शन पर आई अरुण गोविल- दीपिका चिखलिया की रामायण की आज भी लोगों के दिलों में खास जगह है। इन रामायण में राम, सीता और लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल, दीपिका चिखलिया और सुनील लहरी अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में भी नजर आए।

 

1987 में जब यह रामायण दूरदर्शन पर पहली बार आई थी, तो कई बड़े रिकॉर्ड्स अपने नाम किए थे। इसके 37 साल बाद आज भी हर देशवासी के मन में राम-सीता की छवि में अरूण गोविल-दीपिका चिखलिया कहीं न कहीं बसे हुए हैं। चलिए आपको बताते हैं रामानंद सागर की इस रामायण से जुड़े कुछ दिलचस्प किस्से।

Hair extension ❤️ यदि आपके हेयर फॉल हो रहे हैं और आपके सिर में बहुत कम बोल रह गए हैं तो यह हेयर एक्सटेंशन सिर्फ आपके लिए

अरुण गोविल-दीपिका चिखलिया की रामायण से जुड़े दिलचस्प किस्से (Ramanand Sagar Ramayan Lesser Known Facts)

ramanand sagar ramayab

 

रामामंद सागर की रामायण को पहली बार 1987 में दूरदर्शन पर टेलीकास्ट किया गया था। उस समय इस के पहले एपिसोड को लगभग 65 करोड़ लोगों ने देखा था।

कहा जाता है कि उस वक्त जब यह रामायण टीवी पर आती थी तो गलियां, सड़कें सब सूनसान हो जाती थीं।

Latest Saree Designs यह साड़ियां पहन कर आप भी लगेगी बेहद खूबसूरत

दीपिका चिखलिया ने सीता के रोल के लिए ऑडिशन दिया था। रामानंद सागर चाहते थे कि सीता का रोल कोई ऐसी एक्ट्रेस प्ले करे, जो जब परदे पर दिखे तो लोग अपने आप समझ जाएं कि यही सीता है।

दूरदर्शन पर उस वक्त ज्यादातर सीरियल 30 मिनट के होते थे। लेकिन रामायण को 45 मिनट टेलीकास्ट किया जाता था।

जिस समय डीडी नेशनल पर रामायण आती थी, उस समय लगभग 99 प्रतिशत लोग उसे ही देखते थे।

यहां तक कि कई रिपोर्ट्स की मानें तो लोग टेलीविजन पर रामायण देखते वक्त जूते-चप्पल तक उतार दिया करते थे।

Editor

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़ें

Back to top button
E7Live TV

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker