नेशनल हेडलाइंस

Breking news MPPSC ka result ate hi khula pol : mppsc का रिजल्ट आते ही इस घर में रिश्तों की खुली पोल एमपी में एक भाई ने दूसरे भाई को दिया धोखा

MPPSC ka result ate hi khula pol : mppsc का रिजल्ट आते ही इस घर में रिश्तों की खुली पोल एमपी में एक भाई ने दूसरे भाई को दिया धोखा

मध्य प्रदेश में भाई का रिश्ता हमेशा से पवित्र माना जाता है इसी भरोसे मैं पढ़कर किसी का भविष्य चौखट हो गया तो अभी से क्या कहेंगे ऐसे में ही एक मामला एमपी के ग्वालियर से देखने को मिला है यहां एक भाई ने अपने भाई एक का अटूट भरोसा किया पर इसके बदले एक भाई की सरकारी नौकरी निकल गई भाई विश्वास हाथ का शिकार हुआ जब शिकार हुआ भाई को पहुंचा तो कोर्ट ने भी फटकार लगा दी।

इस मामले की शुरुआत 2021 से हुई जब एमपीपीएससी ने अडॉप्ट के लिए एग्जाम आयोजित की थी दतिया के रहने वाले राज्य कुशवाहा ने इस एग्जाम में सम्मिलित होकर नौकरी प्राप्त करने का सपना देखा उसने परीक्षा तो दे दी लेकिन असली कहानी एग्जाम रिजल्ट से शुरू हुई।

एमपीपीएससी के द्वारा परीक्षा परिणाम 2022 में घोषित किया गया राजशील ने परीक्षा परिणाम एमपीपीएससी की वेबसाइट में खुद ना जाकर भाई को भेज दिया तब भाई ने बताया कि उसका सिलेक्शन नहीं हुआ है राज्य से अपने भाई का भरोसा कर लिया उसे समय राजशील के पिता की तबीयत खराब हो चली रही थी जिसके कारण राजशील अपना रिजल्ट देखने नहीं पहुंचा।

राजशील एडीपीओ की परीक्षा पास कर चुका है इसलिए एमपीपीएससी की तरफ से सफल अभ्यर्थी की दस्तावेज जांच के लिए ईमेल के जरिए मांगे हुए थे राजशील ने इस दौरान अपने ईमेल भी चेक नहीं कर पाया जब रात सेल की तरफ से कोई दस्तावेज नहीं भेजा गया तो एमपीपीएससी तरफ से नोटिस भेजा गया तो आपको एमपीपीएससी का नोटिस मिला तब वह हैरान रह गया नोटिस मिलने पर एलिस को पता चला कि वह एडीपीओ की परीक्षा पास हो गया है इसके बाद उसने एमपीपीएससी के आवेदन देकर फरवरी 2024 में आयोजित होने वाले साक्षात्कार में शामिल होने में मन्नते करने लगे लेकिन बात नहीं बनी।

इसके बाद राजशील ने ग्वालियर हाईकोर्ट में अपना रियाज का दायर की और इंटरव्यू में शामिल होने की गुजारिश की लेकिन एमपीपीएससी की ओर से प्यार भी करते हुए रविंद्र दीक्षित के द्वारा उच्च न्यायालय से यह बात रखी गई अभ्यर्थी करवाया काफी लापरवाह रहा इसके लिए इससे मौका नहीं मिलना चाहिए उच्च न्यायालय ने भी इस बात को स्वीकार कर लिया कि अभ्यर्थी लापरवाह इसलिए हाई कोर्ट ने आज का करता को फटकार लगाते हो राहत देने से मना कर दिया भाई की बात पर विश्वास करके राजशील का भविष्य फिलहाल चौपट हो चुका है।

Editor

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़ें

Back to top button
E7Live TV

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker